ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने देशभर के उच्च शैक्षिक संस्थानों की नैशनल इंस्टिट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क 2022 (NIRF 2022) की लिस्ट जारी कर दी है। कुमाऊँ विश्वविद्यालय ने इस बार भी देश के सर्वोच्च शैक्षणिक संस्थानों में अपना नाम सम्मिलित किया है। बता दें कि इस बार रिसर्च, ओवरऑल, यूनिवर्सिटी, मैनेजमेंट, कॉलेज, फार्मेसी, मेडिकल, इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर, एआरआईआईए (नवाचार उपलब्धियों पर संस्थानों की अटल रैंकिंग) और लॉ कैटेगरी में रैंकिंग जारी हुई है। जिसमें कुमाऊँ विश्वविद्यालय को फार्मेसी कैटेगिरी में 64वां स्थान प्राप्त हुआ है।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.मनमोहन सिंह चौहान द्वारा कार्य भार ग्रहण करने के उपरांत विगत वर्ष शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एनआइआरएफ रैंकिंग एवं राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद में स्थान को बेहतर करने के लिए आवश्यक मूलभूत सुविधाओं के उन्ननयन हेतु तत्परता से कार्य किया गया,साथ ही विश्वविद्यालय के शिक्षकों द्वारा अपनी कर्मशीलता के विशिष्ट उद्धरण प्रस्तुत करते हुए शोध एवं शिक्षण कार्य में निरंतर महत्वपूर्ण योगदान दिया गया।

कुमाऊं यूनिवर्सिटी की इस उपलब्धि पर कुलपति डॉ० मनमोहन सिंह चौहान ने कहा कि यह शिक्षकों, कर्मचारियों और विद्यार्थियों की मेहनत का फल है। ये प्रारंभिक सफलता है और अभी रैंकिंग के प्रथम 10 में आने के साथ विश्वभर की यूनिवर्सिटियों के मध्य स्थापित करना है। कई प्रयोग विवि स्तर पर किए जा रहे हैं जिससे विश्वविद्यालय को सृजनात्मकता, उद्यमिता, नवाचार, शोध एवं अनुसंधान का महत्वपूर्ण केंद्र बनाया जा सके।

विश्वविद्यालय की इस उपलब्धि पर परिसर निदेशक नैनीताल प्रो.एलएम जोशी, परिसर निदेशक भीमताल प्रो.एल

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल टाइम्स :: उत्तराखंड सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा की लिखित परीक्षा-2021 के लिए बनाए गए 16 परीक्षा केन्द्र, 2 पालियों में होगी परीक्षा

के सिंह, कुलसचिव दिनेश चंद्रा, वित्त नियंत्रक अनिता आर्य, संकायाध्यक्ष तकनीकी संकाय प्रो.कुमुद उपाधाय, निदेशक आईक्यूएसी प्रो.राजीव उपाध्याय, निदेशक शोध एवं प्रसार प्रो. ललित तिवारी, प्रो. राजीव उपाध्याय, उप कुलसचिव दुर्गेश डिमरी सहित समस्त विश्वविद्यालय परिवार द्वारा हर्ष व्यक्त किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  राजाजी पार्क में माइनिंग पॉलिसी को लेकर HC ने दिए अहम निर्देश