ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- 14 व 15 जून को हल्द्वानी से भवाली कैंचीधाम की ओर से आने व जाने वाले भारी वाहन प्रतिबन्धित रहेगें।
– हल्द्वानी से अल्मोड़ा को जाने वाले यात्री वाहन, प्राईवेट वाहन दिनांक 14 को दिन में 02ः00 बजे से खुटानी मोड़-पदमपुरी-पोखरड़- कश्यालेख-शीतला-मोना-ल्वेशाल एवं क्वारब होते हुये अल्मोड़ा* को निकलेगे।
– नैनीताल से अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ को जाने वाले यात्री वाहन/प्राईवेट वाहन भवाली रामगढ़ तिराहे से होते हुये मल्ला रामगढ़, नथुवाखान, क्वारब से होते हुये निकलेगे।
– अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ से आने वाले यात्री वाहन, प्राईवेट वाहन दिनांक 14 जून को 02ः00 बजे से क्वारब पुल से मोना ल्वेशाल-शीतला- पदमपुरी होते हुये खुटानी बैण्ड से भीमताल की ओर प्रस्थान करेगे।
– रानीखेत की ओर से आने वाले यात्री वाहन क्वारब होते हुये ल्वेशाल-मोना-पदमपुरी से खुटानी बैण्ड से भीमताल की ओर प्रस्थान करेगे।
– भीमताल की ओर से आने वाले वाहन नैनी बैण्ड-मस्जिद तिराहा बाईपास में पार्क* कराये जायेगे। नैनी बैण्ड से श्रद्धालुओं को शटल से कैंचीधाम के लिये भेजा जायेगा।
– नैनीताल की ओर से कैंचीधाम आने वाले चार पहिया वाहनों को सेनिटोरियम-रातीघाट रोड पर पार्क कराया जायेगा और यात्रियों को सेनिटोरियम बैरियर से शटल सेवा से कैंचीधाम को भेजा जायेगा।
– खैरना की ओर से कैंचीधाम आने वाले दर्शानार्थियों के वाहनों को खैरना पैट्रोल पम्प के आगे खाली स्थान पर पार्क कराया जायेगा तथा वहॉं से शटल सेवा के माध्यम से पनीराम ढाबे तक लाया व ले जाया जायेगा।
– भीमताल-नैनीताल की ओर से कैंची जाने वाले दुपहिया वाहन भवाली में रामलीला ग्राउण्ड एवं पैट्रोल पम्प के पास स्थित पार्किग में पार्क कराये जायेगे। वहॉं से श्रद्धालुओं को शटल से कैंची मेला ले जाया जायेगा।
– जितनी भी शटल की गाड़ियां भवाली क्षेत्र में आयेगी वह वन विभाग बैरियर तक जायेगी वहॉं से श्रद्धालु कैंची मन्दिर तक पैदल जायेगे।
– काठगोदाम से भवाली (नैनी बैण्ड) मार्ग वन-वे रहेगा। उक्त मार्ग में गाड़ियां भवाली (नैनी बैण्ड) तक जायेगी। वापसी के लिये वाहन *मस्जिद तिराहा भवाली से बैण्ड नं 01 को जायेगे।


श्रद्धालुओं/पर्यटकों से अनुरोध है कि यातायात व्यवस्था को बनाए रखने में नैनीताल पुलिस का सहयोग करें तथा यातायात के नियमों का पालन करते हुए अपनी लेन में चलें यदि किसी भी वाहन चालक के द्वारा यातायात के नियमों का उल्लंघन किया जाता है तो उसके विरुद्ध एमवी एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी।


यह भी पढ़ें 👉  पर्यटन सीजन को लेकर जिलाधिकारी ने की बैठक... पर्यटन कारोबारियों से मांगे सुझाव