ख़बर शेयर करें -

नैनीताल::::- कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दीवान सिंह रावत ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से निजी शिक्षण संस्थानों के प्राचार्यों से वार्ता करके उनकी समस्याओं को जानने का प्रयास किया। वार्ता का उद्देश्य उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए सहयोग एवं समन्वयन स्थापित करना था।

इस अवसर पर कुलपति प्रो. रावत ने निजी शिक्षण संस्थानों से नवाचार को बढ़ावा देने, नवोन्मेषी विचारों को प्रेरित करने, शिक्षा एवं उद्योग के मध्य कार्रवाई का समन्वय करने और प्रयोगशालाओं एवं अनुसंधान सुविधाओं को सुदृढ़ करने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा कि इससे जहाँ शिक्षण संस्थाओं की समग्र गुणवत्ता में वृद्धि होगी वहीं उनके अनुसंधान, शिक्षण और सीखने-सिखाने की प्रक्रिया में भी सुधार आएगा।

वार्ता के दौरान कुलपति प्रो. रावत ने जहाँ निजी शिक्षण संस्थानों की अधिकांश समस्याओं का त्वरित निवारण किया किया गया वहीं नीतिगत मामलों पर विचार करने का आश्वासन भी दिया गया। उन्होंने कहा कि निजी शिक्षण संस्थानों से प्राप्त सुझावों को 17 अगस्त को आयोजित होनी वाली संबंधित अनुभागों की समीक्षा बैठक में रखा जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल शहर में कुत्तों के बढ़ते आंतक से निजात दिलाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर हुई सुनवाई...

ऑनलाइन वार्ता के दौरान एक निजी संस्थान द्वारा विद्यार्थियों के पंचम सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम में अनुपस्थित दर्शाये जाने के कारण अंतिम सेमेस्टर के परीक्षा आवेदन फॉर्म को भरने में हो रही परेशानी को कुलपति के सामने रखा। वार्ता के दौरान ही कुलपति प्रो.रावत से प्राप्त दिशानिर्देशों के क्रम में परीक्षा अनुभाग द्वारा युद्ध स्तर पर कार्य कर मात्र 23 मिनट के भीतर सभी विद्यार्थियों के परीक्षा परिणाम सही कर उनके अंतिम सेमेस्टर के परीक्षा आवेदन फॉर्म भरवा लिए गए।_

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में लोवर मॉल रोड सुबह 6 बजे से प्रात: 7:30 बजे तक समस्त प्रकार के वाहनों लिए रहेगा प्रतिबंधित....