ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::- 27 फरवरी को सभासद मनोज साह जगाती द्वारा मल्लीताल कोतवाली में तहरीर दी गई कि मल्लीताल क्षेत्र अंतर्गत धामपुर बैण्ड पर स्थित शनि देवता की मूर्ति को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा तोड़कर खण्डित कर दिया गया है, जिससे आम जनमानस की धार्मिक भावनाएं आहत हुई है तथा इस घटना को लेकर क्षेत्र के लोगो मे काफी रोष परिलक्षित है।

प्राप्त तहरीर के आधार पर उक्त संबंध में कोतवाली मल्लीताल धारा 295 भादवि पंजीकृत कर विवेचना उप निरीक्षक अविनाश मौर्य के सुपुर्द की गयी।
लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली उक्त घटना के त्वरित अनावरण के लिए विभा दीक्षित क्षेत्राधिकारी नगर नैनीताल के कुशल पर्यवेक्षण एवं धर्मवीर सोलंकी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मल्लीताल के दिशा-निर्देशन में थाना स्तरीय पुलिस टीम का गठन किया गया।
थाना स्तर पर गठित पुलिस टीम द्वारा घटना की विवेचना के दौरान मन्दिर के आस-पास निवासरत लोगो द्वारा पूछताछ पर संज्ञान में आया कि घटना वाले दिन व उससे एक दो दिन पूर्व जॉनी नाम का व्यक्ति जो तल्लीताल मे कही रहता है मन्दिर के बाहर सीढ़ियों में बैठा हुआ देखा गया था तथा उक्त व्यक्ति द्वारा ही ऐसी धार्मिक घटनाओं को आहत पहुंचाने के उद्देश्य से शनि देव भगवान की मूर्ति को खंडित किया गया।

तत्पश्चात वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गणों के दिशा-निर्देशन में पुलिस टीम के सदस्यो (व.उ.नि दीपक बिष्ट, उ.नि अविनाश मौर्या, का. विरेन्द्र गोले द्वारा उक्त जॉनी नामक व्यक्ति की तलाश के लिए दबिश दी गई तथा मुखबिर की सूचना के आधार पर मंगलवार की प्रातः हल्द्वानी रोड पर धर्मशाला के पास से उक्त घटना को कारित करने वाले अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस की सघन पूछताछ के दौरान अभियुक्त द्वारा बताया गया कि वह नशे का आदि है तथा कोई कामकाज नहीं होने के कारण वह नगर नैनीताल के विभिन्न स्थानों में स्थापित मंदिरों में जाकर मंदिरों में चढाये गये रूपयो को उठाकर अपना खर्च चलाता है तथा उन रुपयों से ही नशीले पदार्थों का सेवन करता है। उसके द्वारा कबूल किया गया कि घटना वाले दिन भी वह शनि देव मंदिर धामपुर बैण्ड में चढावे के पैसे लेने गया था किन्तु वहां पैसे न मिलने पर गुस्से में आकर उसने शनि देवता की मूर्ति को तोड़ दी।
उक्त सनसनीखेज घटना के 24 घण्टे के अंतराल में सफल अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पंकज भट्ट, एसएसपी नैनीताल द्वारा आधिकारिक एक हजार रुपये के नगद ईनाम की घोषणा की गयी है।






यह भी पढ़ें 👉  नंधौर वन क्षेत्र से उपखनिज बाहर ले जाने पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक