ख़बर शेयर करें -

रिपोर्ट :: कांता पाल, नैनीताल

नैनीताल :: सर्वोदय सेवा समिति नैनीताल ने शुक्रवार को संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार ( C.F.P.G.S ) के सहयोग से भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय नैनीताल में नाटक ” ताजमहल का टेंडर ” का मंचन किया गया । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि स्कूल के प्रधानाचार्य बिसन सिंह मेहरा जी थे । संस्था के अध्यक्ष आनन्द मेहरा जी ने मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि का बेच लगाकर स्वागत किया । कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि तथा विशिष्ट अतिथियों द्वारा दीप जलाकर किया गया । समिति के अध्यक्ष आनन्द मेहरा जी ने नाटक ” ताजमहल का टेडर ” के बारे में जानकारी देते हुए कहा नाटक ” ताजमहल का टेंडर ” आज हमारे देश की बहुत बड़ी बीमारी भ्रष्टाचार का हास्य व्यंग शैली में प्रस्तुतिकरण है यह आज के सरकारी तंत्र प्रणाली पर आधारित है जो धूसखोरी और मुनाफा का कोई मौका नहीं छोड़ते है । ताजमहल को शाहजहा ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाया था उस जमाने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं आयी , लेकिन वो खुद इस जमाने में होते और ताजमहल और ताजमहल बनाना चाहते तो ये भ्रष्ट व्यवस्था उन्हें किस तरह परेशान करती इसका वर्णन हमे इस नाटक में देखने को मिलता है । नाटककार अजय शुक्ला के इस नाटक के कल्पिट कथा – नुसार बादशाह ताजमहल बनाने का निर्णय लेते हैं व अपने राज्य के इंजीनियर को जिम्मेदारी सौपते है व सात दिन में नक्शा तैयार करने का आदेश देते है । और इंजीनियर अपने साथियों के साथ मिलकर भ्रष्टाचार का खेल शुरू करता है और किस तरह से बादशाह के खजाने को लुटते है यहि नाटक का मुख्य बिन्दु है । इस तरह आज की भ्रष्ट व्यवस्था राजा महाराजाओं को भी उल्लु बनाने में समर्थ हो चुकी है ताजमहल को बनाना तो दूर की बात उसका टेंडर निकालने में ही 25 वर्ष लग गये । इस नाटक के माध्यम से लेखक ( अजय शुक्ला ) ने हंसी मजाक मे ही समाज की एक गम्भीर समस्या के बारे में जो कि भ्रष्टाचार के रूप में व्याप्त है सोचन पर मजबूर कर दिया ।

यह भी पढ़ें 👉  काशीपुर के जीबी पंत इंटर कॉलेज के पूरे स्टाफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

नाटक का एक कथन कि “ आजकल ईमानदार आदमी का जीना मुशकिल है हमे सोचने पर मजबमू ” है हमे सोचने पर मजबूर कर देता है
कार्यक्रम का निर्देशन – पवन कुमार, सह निर्देशन – जावेद हुसैन, संगीत निर्देशक अजय कुमार, मंच सज्जा- निरज डालाकोटी, रूप सज्जा- रक्षित टम्टा, हारमोनियम में अजय कुमार, दोलक में राहुल कुमार, कैमरे मे -कान्तापाल, कलाकार – पवन कुमार , जावेद हुसैन , निरज डालाकोटी , जसीद आलोक यश पाण्डे , सूरज सिंह जीना , रक्षित टम्टा , विशाल , रितिक टम्टा आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी : डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनसमस्याएं