ख़बर शेयर करें -



आयुक्त दीपक रावत ने मंगलवार को कोटाबाग क्षेत्र नोदा में उत्तराखण्ड का प्रथम हाइड्रोपॉनिक पॉलीहाउस का निरीक्षण किया।
निरीक्षण दौरान रैड ओटर फार्म के स्वामी ए.दास ने आयुक्त को बताया कि यह उत्तराखण्ड का प्रथम हाइड्रोपॉनिक पॉलीहाउस नर्सरी है जिसमें मिट्टी के बिना पानी में सब्जियों का उत्पादन हो रहा है। इस हाइड्रोपॉनिक नर्सरी में मछली के वेस्ट से पोषक तत्वों व रसायन से पालक, गोभी, टमाटर आदि बिना रासायनिक युक्त सब्जियों का उत्पादन हो रहा है। इस पॉलीहाउस में आम खेती से काफी जल्दी सब्जियों का उत्पादन होता है।
आयुक्त ने कहा कि हाइड्रोपॉनिक की सब्जियों की अच्छी गुणवत्ता, नुकसान की कमी के साथ ही रासायनिक युक्त खेती से किसानों की आय दोगुनी होगी। इसके लिए किसानों को प्रेरित किया जायेगा ताकि पर्वतीय क्षेत्र के किसानों की आय बढेगी व उनकी आर्थिकी मजबूत होगी। उन्होंने संयुक्त निदेशक कृषि पीके सिंह को निर्देश दिेये कि इस प्रकार के प्रोजेक्ट के लिए किसानों को जागरूक करें जिससे किसान इस प्रकार के प्रोजेक्ट अपनाकर अपनी आजीविका बढाकर पर्वतीय क्षेत्र के किसान अपनी आर्थिकी को मजबूत कर सकते हैं, साथ ही किसानों की आय दोगुनी होगी वही पर्वतीय क्षेत्र से किसानों आर्थिकी मजबूत होने से पलायन भी रूकेगा।
इसके पश्चात आयुक्त श्री रावत द्वारा राजकीय पौधशाला, कालाढूंगी का निरीक्षण किया। निरीक्षण दौरान उन्होंने उद्यान अधिकारी डॉ नरेन्द्र कुमार को निर्देश दिये कि किसानों की डिमांड के अनुसार नर्सरी मे पौधों का उत्पादन करें। जिससे किसानों की जरूरत पूरी हो सके। निरीक्षण दौरान आयुक्त श्री रावत कोटाबाग क्षेत्र के स्वंय सहायता समूहों एवं आम जनमानस की समस्याओं से रूबरू हुये। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी रेखा कोहली, संयुक्त निदेशक कृषि पीके सिंह, जिला उद्यान अधिकारी डा0 नरेन्द्र कुमार के साथ ही विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल टाइम्स : श्री राम सेवक सभा की कार्यकारिणी की बैठक हुई संपन्न,नंदा देवी महोत्सव की तैयारियों को लेकर हुई चर्चा