ख़बर शेयर करें -

युद्धभूमि से लौटकर बताया आंखों देखा हाल….. कई भारतीय बंकरों व रेलवे स्टेशनों के बेसमेन्ट में छिपकर जान बचाने को है मजबूर

नैनीताल ::- रूस और यूक्रेन के बीच चल रही जंग के बीच वहां फंसी नैनीताल की 2 छात्राए अपने घर पहुंच गई है। जिसमें पूर्व विधायक डॉ नारायण सिंह जंतवाल व प्रेम सिंह बिष्ट की बेटी सकुशल स्वदेश लौट चुकी है हालांकि एक छात्रा आयुषी जोशी तक युक्रेन में फंसी हुई है। नैनीताल पहुंची प्रेरणा बिष्ट ने बातचीत में बताया कि वहां की स्थिति काफी भयावह करने वाली है। प्रेरणा बताती है कि कहा वहां कई भारतीय लोग बंकर एवं मेट्रो के अंडर ग्राउंड बेसमेंट में हैं। उनके पास न खाने को है और न ही पाने को पानी। दुकानें एटीएम आदि बंद पड़े हैं। कहा लगातर बम की आवाजों से युक्रेन गूंज रहा था। जिससे लोगों के मनों में भय बैठा हुआ है। रूस व यूक्रेन के बीच तनाव बढ़ने के साथ ही भारतीय दूतावास के संपर्क में थी । दूतावास के निर्देश पर ही उनकी गतिविधि हो रही थी प्रेरणा बताती है बॉर्डर पर लगातार बच्चों की संख्या बढ़ रही है। वे लोग बंकरों में रह रहे थे हमे सुरक्षित घर तक पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार का आभार व्यक्त करती हूं।

यह भी पढ़ें 👉  नैनी झील में अज्ञात शव मिलने हड़कंप