ख़बर शेयर करें -

2017 में नैनीताल के धारी में सरकारी गाड़ी जलाने और स्लोगन लिखने का था आरोप..

नैनीताल – 2017 में नैनीताल के धारी में माओवादी घटना में लिप्त और सरकारी जीप जलाने वाले 50 हज़ार के इनामी कथित माओवादी देवेंद्र चम्याल और उंसके साथ पकड़ी गई भगवती भोज को कोर्ट ने दोषमुक्त यानी बरी कर दिया है। अपर सत्र न्यायाधीश प्रीतु शर्मा की कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि अगर दोनों अन्य मामलों में वांछित नहीं हैं तो दोनों को तत्काल रिहा करें। आपको बतादें की 1 फरवरी 2017 में धारी तहसील में गिरीश चंद्र की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था आरोप लगाया था कि तहसील में गाड़ी पर आग लगा दी गयी और लाल रंग से भा क पा और अन्य स्लोगन लिख दिए गए। एसकके साथ ही तहसील के बाहर भी पोस्टर डंडे पैम्पलेट में माओवादी लिखा मिला,,हालांकि इस मामले में 23 सितंबर 2017 को चोरगलिया थाने में तैनात संजय जोशी ने आरोपी देवेंद्र चम्याल व भगवती भोज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, लंबी सुनवाई के बाद कोर्ट में पुलिस की कहानी नहीं चल सकी और कोर्ट ने दोनों आरोपियों को दोषमुक्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल टाइम्स :: खेलों एवं पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पहली बार रन टू लिव के तत्वधान में रेसलिंग नैनीताल जोन का आयोजन