ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::- सरोवर नगरी नैनीताल नगर के वाल्मीकि समाज के पंडित व नगरपालिका नैनीताल मे मनोनीत सभासद राहुल पुजारी ने समपूर्ण उत्तराखंड मे निवास करने वाले वाल्मीकि समाज कि ओर से उत्तराखंड प्रदेश के मुख्या मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र प्रेषित कर राज्य में भगवान महर्षि वाल्मीकि के नाम पर सांस्कृतिक विश्वविद्यालय कि स्थापना करने कि मांग की है,मनोनीत सभासद राहुल पुजारी ने पत्र मे मुख्यमंत्री को लिखा कि हमारे प्रदेश कि पूरे भारत मे एक अलग ही पहचान है, देवभूमि कहे जाने वाला हमारा प्रदेश हमारी संस्कृति से जुड़ी अनेकों महान विभूतियों की कर्म भूमि हैं, तपोभूमि है एसे मे हमारे प्रदेश मे महाकाव्य रामायण रचियता भगवान महर्षि वाल्मीकि जी के नाम पर सांस्कृतिक विश्वविद्यालय कि स्थापना किए जाने का सरकार से आग्रह उत्तराखंड का समपूर्ण वाल्मीकि समाज करता है, देश के सर्वोच्च न्यायालय ने भी भगवान महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित वाल्मीकि रामायण को साक्षी मानकर अयोध्या को श्री राम जन्मभूमि होने का उचित साक्ष्य मानकर आयोध्या मे राम मंदिर निर्माण का निर्णय दिया है। एसे भगवान महर्षि वाल्मीकि जी के सम्मान मे हमारे प्रदेश मे उनके नाम से सांस्कृतिक विश्वविद्यालय कि स्थापना कि जानी चाहिए।उन्होंने कहा प्रदेश मे भगवान महर्षि वाल्मीकि के नाम से विश्वविद्यालय कि स्थापना करने से एक ओर देश विदेश के विधार्थियों, शोधार्थियों को भारतीय संस्कृति के बारे जानने का अवसर मिलेगा और साथ ही पूरे राष्ट्र मे हमारे प्रदेश कि अपनी संस्कृति के प्रति सम्मान एवं र्सवधर्म समभाव का एक अच्छा उदाहरण भी प्रस्तुत होगा।

इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता सभासद राहुल पुजारी कि इस पहल को पूरे प्रदेश से सर्मथन मिल है, जिसमे मुख्य रुप से नैनीताल से देवभूमि उत्तराखंड सफाई कर्मचारी यूनियन अध्यक्ष धर्मेश प्रसाद महासचिव सोनू सहदेव,उपसचिव विकास सिलेलान, प्रदीप सहदेव, महेंद्र सिलेलान,अमित सहदेव, संजय सौदा, सुनील कुमार, विदेशी जी, विकास मर्दान,मनोज चोहान,अनील कटियार,मनोज कुमार, कमल कटियार,सेवा दल अध्यक्ष मनोज बेदी, वाल्मीकि सभा सरपंच गिरीश भैया, उपाध्यक्ष राजू लाल,उपसचिव रोहित कैसले, संजय भगत,प्रदेश अध्यक्ष भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज, मनोज पवार,सुदेश पवार,रंगकर्मी सुभाष चन्द्रा,वाल्मीकि आश्रम समीति से,मुकेश मर्दाना, विकास मर्दान, विपीन सहदेव, राजाराम,उमेश कुमार,एवं अमन टांक,सुशील जाँन,राजू सरदार,सुरेन्द्र कुमार,चोधरी महेश कुमार, दीपक सहदेव,विजय कुमार सनी चौहान, आदि समपूर्ण वाल्मीकि समाज नैनीताल सहित, देहरादून से विशाल बिरला, हरिद्वार से सभासद प्रिंस लोहट ,टिहरी गढ़वाल से सामाजिक कार्यकर्ता सुधिर कुमार ,श्रीनगर गडवाल से राजन सूर्यान,खटिमा से सामाजिक कार्यकर्ता मुकेश कुमार, सितारगंज से नरेन्द्रसिंह,रुद्रपूर से विकास चोहान,काशीपुर से कांग्रेस कमेटी जिला उपाध्यक्ष महेंद्र बेदी, भवाली से सरपंच सतीशकुमार,अध्यक्ष वाल्मीकि सभा भवाली राजन लाल, बाजपुर सामाजिक कार्यकर्ता अनिल, रामनगर सामाजिक कार्यकर्ता हरिओम,केलाखेड़ा से एडवोकेट यादराम वाल्मीकि ,कुंडा से एडवोकेट बलवंत सिंह वाल्मीकि, जसपुर से चौधरी बृजकिशोर,अल्मोड़ा से देवभूमी उत्तराखंड सफाई कर्मचारी यूनियन प्रदेश महासचिव राजपाल पवार, भीमताल से सरपंच कुमेश, हल्द्वानी से सरपंच चौधरी अमरदीप,पार्षद रोहित प्रकाश, देवभूमि उत्तराखंड कर्मचारी यूनियन प्रदेश अध्यक्ष राहत मसीह, उपाध्यक्ष अजय बन्नू काशीपुर एवं प्रदेश में रह रहे विभिन्न शहरों से वाल्मीकि समाज के अनेक लोगों ने राहुल पुजारी की इस पहल कि सराहना करते हुए प्रदेश मे भगवान महर्षि वाल्मीकि के नाम से विश्वविद्यालय कि स्थापना कराये जाने का सर्मथन दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल :: ट्रेड टेक्स में बढ़ोतरी को लेकर व्यापरियों में आक्रोश नगर पालिका ईओ को सौंपा ज्ञापन