ख़बर शेयर करें -

नैनीताल :::- जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने नैनीताल शहर स्थित टिफिन टॉप मुख्य पर्यटक स्थल/ डेराथी सीट (व्यू प्वांइट) पर दरारें आने तथा भू-स्खलन को देखते हुए गम्भीरता से लेते हुए भू-वैज्ञानिक, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी, सहायक अभिन्यता सिंचाई, प्रान्तीय खण्ड लोनिवि, राजस्व एवं वन विभाग की स्थलीय सर्वे हेतु टीम का गठन किया था। सर्वे टीम द्वारा सुझाव दिए गए कि उक्त संवदेनशील डेराथी सीट, व्यू प्वांइट के लिए उच्च स्तरीय तकनीकी विशेषज्ञों से भू-तकनीकी सर्वेक्षण कराने का अनुरोध किया था।
इस क्रम में जिलाधिकारी ने भू-तकनीकी सर्वेक्षण कराये जाने का अनुरोध सचिव आपदा एवं पुनर्वास उत्तराखण्ड शासन को किया था। जिसके क्रम में सचिव आपदा द्वारा चायना पीक और टिफिन टॉप पर हो रहे भूस्खलन के सर्वे एवं स्थलीय निरीक्षण हेतु उत्तराखण्ड भूस्खलन न्यूनीकरण एवं प्रबन्धन केन्द्र की टीम सर्वे टीम का गठन किया गया है सर्वे टीम द्वारा 17 मई से 20 मई 2023 के मध्य स्थलीय निरीक्षण एवं सर्वे कर भूस्खलन क्षेत्र का दीर्घकालिक एवं स्थाई सुरक्षात्मक कार्य किया जायेगा।
जिलाधिकारी ने बताया कि भूस्खलन की संवेदनशीलता को देखते हुये आलूखेत एवं लड़ियाकांटा में भी भूस्खलन का दीर्घकालिक स्थाई समाधान के लिए सर्वे टीम द्वारा कराया जायेगा। उन्होंने कहा इसके साथ ही आसपास के संवेदनशील क्षेत्रों का भी आवश्यकता पडने पर सर्वे किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल :: भारी बारिश के चलते 13 जुलाई तक जनपद के सभी स्कूलों में अवकाश घोषित