ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) की पीयर टीम द्वारानैक) की पीयर टीम द्वारा कुमाऊं विश्वविद्यालय के सर जेसी बोस परिसर के मैनेजमेंट, बायोटेक्नोलॉजी एवं फार्मेसी विभाग में बुनियादी सुविधाओं, सर्वोत्तम और अभिनव प्रथाओं, शैक्षणिक गुणवत्ता एवं शोध कार्य का निरीक्षण किया।

नैक पीयर टीम द्वारा जहां ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल एवम कैरियर काउंसलिंग सेल के कार्यों का निरीक्षण किया गया वहीं महादेवी वर्मा सृजन पीठ, रामगढ़ द्वारा संचालित की जा रही साहित्यिक गतिविधियों का भी निरीक्षण किया गया।

नैक पीयर टीम के कुछ सदस्यों द्वारा अंत में जहां एक ओर अभिभावकों एवम छात्र संघ से अकादमिक एवं प्रशासनिक गतिविधियों के संदर्भ में चर्चा की गई वही बाकी सदस्यों द्वारा विश्वविद्यालय की एलुमनाई सेल के सदस्यों के साथ वार्ता की गई। इस अवसर पर कुमाऊं विश्वविद्यालय के एलुमनाई के रूप मे प्रो.ओपीएस नेगी (कुलपति, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय), प्रो० जगत सिंह बिष्ट (कुलपति, सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय), डॉ० सी०डी० सूंठा
(उच्च शिक्षा निदेशक, उत्तराखण्ड),
प्रो० एन०एस० बिष्ट (पूर्व अध्यक्ष, उत्तराखंड लोक सेवा आयोग), ओलम्पियन राजेंद्र रावत, एलुमनाई सेल के अध्यक्ष डॉ० बी०एस० कालाकोटी, उपाध्यक्ष डॉ० एस०एस० सामंत (पूर्व निदेशक, एच०एफ०आर०आई), प्रो० उमा मल्कानिया (पूर्व संकायाध्यक्ष, जी०बी० पंत यूनिवर्सिटी पंतनगर), डॉ० नारायण सिंह जंतवाल (पूर्व विधायक), मुकेश नेगी (पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष), श्री जगदीश बवाड़ी, श्री नरेंद्र बिष्ट आदि उपस्थित रहे।

नैक पीयर टीम में चेयरमैन प्रो० अमर राय (पूर्व कुलपति, मिजोरम यूनिवर्सिटी एवं नार्थ-ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी) के साथ प्रो० देबर्षि नाथ (तेज़पुर यूनिवर्सिटी), प्रो० लोकनाथ मिश्रा (मिजोरम यूनिवर्सिटी), प्रो० प्रफुल्ला साबले (राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी), प्रो० आदित्य प्रसाद (रबिन्द्र भारती यूनिवर्सिटी, कोलकत्ता), प्रो० के०सी० सनी (सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ केरला), प्रो० फ़ारूक़ शाह (सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ कश्मीर) सम्मिलित हैं।

इस मौके पर कुलसचिव श्री दिनेश चंद्रा, वित्त नियंत्रक श्रीमती अनीता आर्या, निदेशक आई०क्यू०ए०सी० प्रो० राजीव उपाध्याय, अपर निदेशक आई०क्यू०ए०सी० प्रो० प्रदीप गोस्वामी,
प्रो० संतोष कुमार, प्रो० ललित तिवारी, प्रो० संजय पंत, प्रो० एम०सी० जोशी, प्रो० सतपाल सिंह बिष्ट, प्रो० गीता तिवारी, प्रो० अनिल कुमार बिष्ट, डॉ० रितेश साह, डॉ० महेंद्र राणा, उप कुलसचिव दुर्गेश डिमरी के साथ विश्वविद्यालय के कई वरिष्ठ प्रोफेसर एवं अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  स्टोन क्रशर संचालन पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक