ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- जिलाधिकारी गर्ब्याल ने गठित जनपद स्तरीय समिति के सदस्य उपजिलाधिकारी, तहसीलदार एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये है कि सम्पूर्ण कार्यवाही की प्रभावी मानिटरिंग की जाए साथ ही समस्या एवं कठिनाई आने पर गठित समिति के स्तर से सम्बन्धित को तात्कालिकता के आधार पर दिशा निर्देश निर्गत कर समस्या का समाधान किया जाए।
जिलाधिकारी ने कहा है कि विभिन्न प्रतियोगी परिक्षाओं में प्रतिभाग किये जाने हेतु 11वीं एवं 12वीं कक्षाओं मे अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्रों की प्राप्त करने में आने वाली कठिनाईयों को दूर करने के दृष्टिगत जनपद के अध्ययनरत 11वीं एवं 12वीं कक्षाओं के छात्र एवं छात्राओं के निवास, चरित्र, आय एवं पर्वतीय प्रमाण पत्र के साथ ही अन्य प्रमाण पत्र विद्यालयोें में ही उपलब्ध कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि इस कार्य को सम्पादित करने हेतु समिति का गठन कर दिया है। समिति जनपद स्तर पर सभी विद्यालयों मे अध्ययनरत छात्र-छात्राओं का आंकलन करेगी।
जिलाधिकारी ने तहसील स्तर पर उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति पटवारी, लेखपाल, कानूनगो एवं सीएससी के डाटा एन्ट्री आपरेटर द्वारा तिथिवार रोस्टर तैयार कर छात्र-छात्राओं को आवश्यक प्रमाण पत्र उपलब्ध कराये जायेंगे जिससे ही अनावश्यक छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना ना करना पडे। उन्होंने कहा प्रमाण पत्रों हेतु आवश्यक शुल्क, दस्तावेज, ऑनलाईन/आफलाईन के माध्यम से तहसीलदार, उपजिलाधिकारी कार्यालयों को प्रेषित किये जायेंगे। उन्होंने गठित समिति के निर्देश दिये है कि एक सप्ताह के भीतर उक्त प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से सम्बन्धित विद्यालय के प्रधानाचार्य को उपलब्ध करायेंगे।
जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी के.एस. रावत को निर्देश दिये हैं कि समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों के साथ ही उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार के साथ समन्वय कर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल टाइम्स :: डीएसबी परिसर में एक दिवसीय व्याख्यान