ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- मण्डलायुक्त कुमाऊं दीपक रावत ने आज तहसील कार्यालय नैनीताल मे पहुचकर निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान आयुक्त ने तहसील में भूमि एवं अन्य मामलों से संबंधित अविवादित फाइलें, विवादित फाइलें, निस्तारित फाइले एव दाखिल खारिज, 143 व 41 ,सीलिंग,राजस्व वसुली, खनन, व्यापार कर एव भूमि से जुड़े कोर्ट मे लंबित मामलो की प्रगति संबंधित अधिकारी कर्मचारियों से गहनता से जानकारी ली।
आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जो वाद लंबे समय से विचाराधीन है उन्हें कम से कम अवधि की तारीख देकर तेजी से निस्तारण करना सुनिश्चित करें। ताकि लंबित मामलों क समय पर निस्तारण किया जा सके। आयुक्त ने एडीएम अशोक कुमार जोशी को निर्देश दिए है प्रत्येक तीन माह के अंतर्गत तहसीलों के कार्यों का औचक निरीक्षण कर समीक्षा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने इस दौरान विभिन्न पटेलों में जाकर निरीक्षण किया एवं संबंधित कर्मचारियों को निर्देशित किया है कि वे अपने से संबंधित पत्रावली का रखरखाव सही ढंग से रखें किसी भी कर्मचारी एव अधिकारी के स्तर पर कार्यों में लेटलतीफी पाई गई तो उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। भूमि पैमाइश के आवेदनों का व्यवस्थित रखरखाव एव सही जानकारी ना देने पर नाजिर रोहित पालीवाल को कारण बताओ नोटिस जारी के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए गए।
निरीक्षण के दौरान तहसीलदार नवाजिश खलिक ने बताया कि माह सितंबर तक तहसील में 407 वादों में से 82 वाद विवादित होने से एव 325 वाद समयावधि मे होने के कारण शेष है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून सहस्त्रधारा रोड के चौड़ीकरण पर लगी रोक हटी...
हाईकोर्ट ने दिए अहम निर्देश
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments