ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- धार्मिक मान्यताओं के अनुसार माँ नंदा-सुनंदा कल अपने अष्टमी के दिन मां नंदा-सुनंदा का अपने मायके आगमन हुआ था और इसी परंपरा के तहत एकादशी यानी 7 सितंबर को कुलदेवी मां नंदा-सुनंदा अपने ससुराल लौट जाएंगी। नैनीताल में इन दिनों मां नंदा-सुनंदा की विशेष पंच आरती का आयोजन किया जा रहा है।
नंदा-सुनंदा की आराधना में पंच आरती का विशेष महत्व है। मां नंदा-सुनंदा की होने वाली इस पंच आरती की विशेषता यह है कि इस आरती को पांच तत्वों से किया जाता है। पुष्प, वस्त्र, जल, वायु और ज्योति से की जाने वाली इस पूजा से मां नंदा-सुनंदा की दिनभर की व्याधियों को दूर किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि पंच आरती में शामिल होने भर से लोगों पर मां नंदा-सुनंदा की असीम कृपा होती है। पंच आरती में सैकड़ों श्रद्धालु प्रतिभाग करते रहे हैं। लेकिन इस वर्ष कोविड19 के चलते श्रद्धालु पंच आरती में शामिल नही हो पाए।

यह भी पढ़ें 👉  राज्य में भर्ती परीक्षाओं में हुई धाँधलियों पर उत्तराखंड एसटीएफ़ ने की बड़ी कार्रवाई....