ख़बर शेयर करें -

नैनीताल: नैनीताल ताइक्वांडो खिलाड़ी लतिका भंडारी ने नेपाल के पोखरा में आयोजित तीसरी माउंट एवरेस्ट इंटरनेशनल ओपन ताइक्वांडो चैम्पियशिप 53 किग्रा भार वर्ग के मुकाबले में कांस्य पदक जीतकर देश का मान बढ़ाया है। इस भार वर्ग में 27 खिलाड़ियों ने प्रतिभाग किया था
शुक्रवार को खेले गए मुकाबले में पहला बाई, तो दूसरा मुकाबला भारत ने 2-0 से जीता, तीसरे मैच में नेपाल को भी 2-0 हराया जबकि चौथा सेमीफाइनल मैच में कोरिया से 2-1 से हार गए।
लतिका ने चैम्पियन ऑफ चैम्पियंस प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर भारतीय टीम में जगह बनाई थी। लतिका पहले मध्य प्रदेश से खेलती थी, अब उत्तराखंड से खेल रही है।
पहले ताइक्वांडो की सात स्टेप में प्रतियोगिता हुई थी।10 व 12 सितंबर को महाराष्ट्र के नासिक में आयोजित प्रतियोगिता में लतिका ने 53 किग्रा वर्ग में महाराष्ट्र की खिलाड़ी को पराजित कर गोल्ड जीता। लतिका को 2012 में मध्य प्रदेश सरकार से खेलों में प्रतिष्ठित विक्रम अवार्ड व 2013 में स्पॉट्स टाइम अवार्ड मिल चुका है।
शहर के मल्लीताल निवासी असम राइफल्स से रिटायर्ड महेंद्र सिंह भंडारी व नीमा भंडारी की दो संतानों में छोटी और 1994 में जन्मी लतिका को 10 साल की उम्र से ही ताइक्वांडों मे रुचि थी। 2008 में वह प्रशिक्षण के लिए भोपाल चली गई। 2009 में वह 29वें नेशनल जूनियन ताइक्वांडो के 53 किग्रा वर्ग में शामिल हुई, जिसमें उसने पहली बार स्वर्ण पदक झटका और फिर आगे ही बढ़ती गईं। अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में ललिता अब तक पांच स्वर्ण, तीन रजत, दो कांस्य पदक जीत चुकी है। मध्य प्रदेश से खेलने के साथ ही कोच के रूप में खिलाड़ी तैयार किए। अब उत्तराखंड से खेल रही है।

यह भी पढ़ें 👉  काठगोदाम-हैड़ाखान रोड पर पहाड़ी से मलवा आने से दो सौ गांवों से संपर्क टूटा....