ख़बर शेयर करें -

देहरादून: रायपुर थाना क्षेत्र में एक पति ने दरिंदगी की सभी हदें पार कर दी. पत्नी से छुटकारा पाने के लिए पहले उसे हथौड़े से जमकर पीटा. फिर अधमरी पत्नी को तीन बाद जहर का इंजेक्शन देकर मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने इस जघन्य हत्या को अंजाम देने वाले हत्यारोपी वीरेंद्र कुमार साह उर्फ कृष्णा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. वहीं, पुलिस ने इस हत्याकांड में प्रयुक्त लोहे की हथौड़ी और जहर की शीशी सहित इंजेक्शन की सिरिंज बरामद की है।

हत्याकांड को अंजाम देने वाला मृतक पिंकी देवी का पति वीरेंद्र कुमार साह उर्फ कृष्णा मूल रूप से जिला अररिया बिहार का रहने वाला है। पुलिस के अनुसार 26 वर्षीय मृतका पिंकी देवी का विवाह 10 साल पहले 2010 में बिहार निवासी विरेंद्र कुमार साह उर्फ कृष्णा के साथ हुआ था. दोनों के तीन बच्चे भी हैं।

 पुलिस के मुताबिक मामला थाना रायपुर क्षेत्र के सोडा सरोली का है. एसएसपी देहरादून दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि 13 दिसंबर की शाम जब वीरेंद्र काम से घर लौटा, तब उसकी पत्नी से घर के कामकाज को लेकर कहासुनी हो गई. देखते ही देखते पति पत्नी के बीच विवाद इतना बढ़ गया कि वीरेंद्र ने बच्चों को एक कमरे में बंद कर दिया और पत्नी के पेट और पीठ पर हथौड़े से कई वार किए, जिससे पत्नी को बुरी तरह जख्मी हो गई।

फिर बच्चों को डरा धमका कर कहा कि कोई भी पूछे तो कहना मां सीढ़ियों से गिरकर घायल हुई है। बच्चों को दहशत में डालकर वीरेंद्र अपने कमरे में चला गया। इधर, पत्नी दूसरे कमरें में रात भर तड़पती रही और बेहोश हो गई। 14 दिसंबर की सुबह पत्नी की बिगड़ती हालत देख पति वीरेंद्र उसे नजदीकी डॉक्टर के पास ले गया. जहां, डॉक्टर ने उसे पत्नी स्थिति को देखते हुए बड़े अस्पताल में ले जाने सलाह दी।

यह भी पढ़ें 👉  मंदिर में दान पात्र का ताला तोड़कर पैसे चुराने वाले दो शातिर चोरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार.. ख़ुलासे में चोरो ने खोले ओर भी चोरी के राज़

पुलिस के मुताबिक वीरेंद्र पत्नी को बड़े अस्पताल ले जाने की जगह रायपुर के स्वास्थ्य केंद्र ले गया, जहां डॉक्टरों ने पिंकी की दयनीय हालत देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद जल्द से जल्द उसे हायर हॉस्पिटल में एडमिट करने की सलाह दी. लेकिन पति वीरेंद्र पत्नी को उसी हालत में घर लेकर आ गया।

15 दिसंबर को भी पत्नी पूरी तरह बदहवासी की हालत में दर्द तड़पती रही. इसी रात पत्नी को खाना दिया गया तो उसने उल्टी कर दी. ऐसे में 16 दिसम्बर को पति एक बार फिर पत्नी पिंकी को उसी हालत में नजदीकी एक क्लीनिक में ले गया, जहां उसका अल्ट्रासाउंड और मेडिकल चेकअप कर कराया पेट के अंदर गहरे जख्म और अंदरुनी गहरे घाव देखकर डॉक्टर ने तत्काल ही पिंकी को हायर मेडिकल अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी. लेकिन इसके बावजूद वीरेंद्र पत्नी को अस्पताल ले जाने की जगह घर ले आया,

16 दिसंबर की शाम को जब पति थोड़ी देर के लिए घर से बाहर गया. इसी बीच जख्मी हालत में पत्नी पिंकी ने बिहार में अपने भाई रंजीत को मोबाइल से फोन करके पति द्वारा मारपीट की जानकारी दी. उसने भाई से कहा इस बार वह बचने वाली नहीं है. वहीं. इस बीच थोड़ी देर में जब वीरेंद्र घर लौटा तो पत्नी ने उससे कहा कि उसने सारी बातें अपने भाई को बता दी हैं. अब वह बचने वाला नहीं है. 16 दिसंबर की देर रात को तड़फती पत्नी वीरेंद्र ने जहर का इंजेक्शन दे दिया. 17 तारीख को तड़के लगभग 3 बजे के आसपास पिंकी की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें 👉  वीकेंड पर जाम से निपटने के लिए नैनीताल पुलिस ने तैयार किया ट्रैफिक प्लान...

 17 दिसंबर को ही सुबह पिंकी के भाई रंजीत ने बिहार से ही किसी तरह थाना रायपुर पुलिस का नंबर लेकर बहन की आपबीती बताई. मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस हरकत में आई और घटनास्थल पहुंची. पुलिस के मुताबिक जैसे थाना प्रभारी कुंदन सिंह मौके पर पहुंचे तो, वीरेंद्र अपनी पत्नी को क्रियाकर्म करने के लिए उसे हरिद्वार ले जाने की तैयारी कर रहा था।

पुलिस ने जब पति से पत्नी की मौत की वजह पूछी तो उसने बताया कि पिंकी सीढ़ियों से 13 तारीख को गिरकर बुरी तरह जख्मी हो चुकी थी, उसने काफी जगह इलाज कराया लेकिन आज सुबह उसकी मौत हो गई। मामला संदिग्ध मानते हुए पुलिस ने पति को शक घेरे में रख अपनी निगरानी में रखा और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. तीन डॉक्टरों की रिपोर्ट से पता चला कि शरीर पर कई तरह के अंदरूनी जख्म थे. आंतें तक फट गईं थीं।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने इस घटना को हत्या का केस मानते हुए जब वीरेंद्र से सख्ती से पूछताछ की तो उसने सिलसिलेवार तरीके से पूरा सच उगल दिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी पति का हत्या में कबूल नामा और बाद में बच्चों की बयानों से भी इस बात की पुष्टि हुई कि हत्या के वीरेंद्र उर्फ कृष्णा ने पत्नी की हत्या की है।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Related News