ख़बर शेयर करें -



जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ टीसी के निर्देशन में नगर क्षेत्र में नशे के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत एसओजी और टांडा पुलिस ने संयुक्त रूप से नशे के विरुद्ध एक अभियान चलाया। जिसमें चेकिंग के दौरान चौकी इंचार्ज मनोज जोशी और एसओजी टीम ने दो पैदल लोगों को संदिग्ध हालत में जाते हुए देखा। शक होने पर पुलिस ने दोनों को रोकने का इशारा किया, लेकिन वह पुलिस को देख कर भागने लगे। पुलिस ने दोनों लोगों को तत्परता दिखाते हो दबोच लिया। जामा तलाशी में दोनों के पास से लगभग 11:00 ग्राम स्मैक बरामद हुई जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगभग डेढ़ लाख रुपए की कीमत आकि जा रही है। पूछताछ में दोनों ने अपना नाम शाकिर पुत्र नबी हुसैन निवासी मोहल्ला खा, जबकि कि दूसरे व्यक्ति ने अपना नाम अनीश पुत्र रफीक अहमद निवासी उपरोक्त बताया। पुलिस ने आज दोनों व्यक्ति का एनडीपीएस में चालान कर न्यायालय के समक्ष पेश किया है। वही आज कोतवाली परिसर में घटना का खुलासा करते हुए सीओ वंदना वर्मा ने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में नशे के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत यह कार्रवाई की गई है। पकड़े गए व्यक्तियों की कुंडली खगाली जा रही है। बताया जा रहा है कि यह नशे के सौदागर उत्तर प्रदेश के अन्य जगो से लाकर से लाकर स्मैक की उत्तराखंड में खपत करते हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि यह नशे के सौदागर या तो अपनी हरकतों से बाज आ जाए या फिर जेल जाने को तैयार रहे है।

यह भी पढ़ें 👉  मल्लीताल पालिका बाजार में गुलदार की दहाड़ ने फैलाई दहशत