ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा के निधन से उत्तराखंड की संगीत जगत में सहित लोक संस्कृति से जुड़े लोक कलाकारों में शोक की लहर दौड़ गई। 53 साल की उम्र में प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद सिंह मेहरा की हार्ट अटैक से हुई आकस्मिक मृत्यु से उत्तराखंड में कलाकार जगत स्तब्ध है। प्रह्लाद मेहरा ने अपनी मधुर आवाज से लोक गीतों से उत्तराखंड के लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाकर लोगो का दिल जीता था।बहुत दुःखद समाचार है। लोक संस्कृति से जुड़े किशन लाल ने कहा प्रहलाद मेहरा द्वारा उत्तराखंड की लोक संस्कृति के लिए बहुत संघर्ष किए जो हमारे उत्तराखंड की संस्कृति के लिए अपूर्णीय क्षति है प्रह्लाद मेहरा जैसे गायक बहुत कम होते है। जिनकी आवाज या वाणी मे मां सरस्वती का वास था।

यह भी पढ़ें 👉  एक सप्ताह में नैनीताल में ग्रीन बैल्ट और असुरक्षित क्षेत्र में सर्वे कर अवैध निर्माणों को चिन्हित करने के सचिव जिला विकास प्राधिकरण को मण्डलायुक्त ने दिए निर्देश