ख़बर शेयर करें -

नैनीताल :::- भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय के शिक्षकों एवं विद्यार्थियों ने कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में नवनियुक्त कुलपति प्रो. दीवान सिंह रावत से मुलाकात कर हार्दिक शुभकामनाओं के साथ पुष्पगुच्छ भेंट किये। ज्ञात हो कि कुलपति प्रो. रावत ने 1985 से 1988 तक नैनीताल के प्रतिष्ठित भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय से हाईस्कूल व इंटर की शिक्षा ग्रहण की थी।

कुलपति प्रो.दीवान सिंह रावत ने विद्यार्थियों से शैक्षणिक संवाद में जहाँ उनके भविष्य के लक्ष्य पर चर्चा की वहीं विद्यार्थियों को विभिन्न ज्ञानवर्धक जानकारियाँ भी प्रदान की। विद्यार्थियों ने काफी उत्सुकता के साथ सवाल पूछे। विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करते हुए कुलपति प्रो.रावत ने कहा कि वे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर अपना बेहतर भविष्य तैयार करें। उन्होंने कहा कि किताबें मनुष्य की सच्ची मित्र होती हैं और हमें किताबों की संगति करनी चाहिए साथ ही पाठ्यपुस्तकों के अलावा अन्य पुस्तकों को भी पढ़ने की आदत बनाना बहुत आवश्यक है। इससे न केवल ज्ञान में वृद्धि होती है बल्कि विषय विशेष का ज्ञान भी बढ़ता है।

कुलपति प्रो. रावत ने अपने विद्यार्थी जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी को अपने भविष्य का लक्ष्य बनाकर मेहनत करनी चाहिए। सार्थक लक्ष्य रखने से आपके जीवन को एक उद्देश्य मिलता है। आप जो बनना चाहते हैं उसका लक्ष्य रखना आपको प्रेरित करता है। लक्ष्य आपको ऊर्जा, आत्मविश्वास और प्रत्येक दिन के लिए कुछ न कुछ देता है।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य बीएस मेहता ने कहा कि हम सबको काफी ख़ुशी हो रही है कि भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय के पुरातन विद्यार्थी और जाने माने रसायन शास्त्री प्रो. रावत कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में अपने विद्यालय को गौरवान्वित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज का दिन इन छात्रों के लिए जीवन का यादगार दिन के रूप में अंकित हो गया। उनके लिए देश के जाने-माने शिक्षाविद, रसायन शास्त्री और कुलपति प्रो. रावत के साथ बातचीत करने का यह अनुभव अविस्मरणीय रहेगा।

इस दौरान कुलसचिव दिनेश चंद्रा, डॉ. महेंद्र राणा, निजी सचिव कुलपति एलडी उपाध्याय, भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय के शिक्षक प्रवीण सती, डॉ. प्रह्लाद, रोहित वर्मा, डॉ. नीलम, डॉ.रेनू, मीनाक्षी बिष्ट सहित विद्यार्थी मयंक, अक्षय, यश, हिमानी, सिमरन, दिया, यक्षिता, चेतना आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल :: अपर जिलाधिकारी ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनसमस्याएं