ख़बर शेयर करें -

नैनीताल :::- जिलाधिकारी वंदना ने सोमवार को जिला कार्यालय नैनीताल में नैनीताल जनपद के अन्तर्गत स्वीकृत रानीबाग-नैनीताल रोप-वे परियोजना के सम्बन्ध मे सम्बन्धित कार्यदायीं संस्था एवं अधिकारियों से विस्तार से जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। बैठक में कार्यदायीं संस्था द्वारा प्रर्जेंटेशन के माध्यम से अब तक किये गये प्री फीजिबिलिटी सर्वे की जानकारी डीएम को दी। उन्होंने बताया कि सर्वें का कार्य किया गया है जिनमें रानीबाग से नैनीताल प्रस्तावित रोप-वे की लम्बाई 11.45 किमी एवं रानीबाग, ज्योलीकोट व हनुमानगढ़ी में आवा-जाही हेतु तीन स्टेशन स्थापित किये जायेंगे इसके अलावा डीपीआर निर्माण का टेंडर भी कर दिया गया है।
बैठक में डीएम ने कार्यदायीं संस्था को निर्देश दिये हैं कि रोप-वे निर्माण के दौरान आवा-जाही हेतु स्टेशन स्थापित भूमि हस्तान्तरण, टॉवर, विद्युत पोल हटाने आदि के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों के साथ समन्वय बनाते हुए समयबद्व कार्य करना सुनिश्चित करें इसके अलावा स्टेशन में यातायात व्यवस्था हेतु पार्किंग की व्यवस्था का भविष्य की जरूरतों को देखते हुए सर्वे करने के निर्देश दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारी को निर्देश दिये हैं कि प्रस्तावित रोप-वे में आने वाली भूमि का भंति-भांति निरीक्षण करना सुनिश्चित करें। बैठक में अध्यक्ष व्यापार मण्डल, होटल एसोशिएशन के पदाधिकारियों के साथ रोप-वे के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा परिचर्चा की गई।
बैठक में उपजिलाधिकारी राहुल साह, कुमाऊँ मण्डल विकास निगम महाप्रबन्धक एपी बाजपेई, महाप्रबन्धक उद्योग सुनील पंत, नगरपालिका अधिशासी अधिकारी आलोक उनियाल, कार्यदायीं संस्था एनएचआई विकास मित्तल, जितेश गुप्ता, व्यापार मण्डल अध्यक्ष मारूती नन्दन साह, अध्यक्ष होटल एसोशिएशन दिग्विज बिष्ट, पर्यटन, परिवहन अधिकारी के अलावा सम्बन्धित अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  दुग्ध फेडरेशन की बैठक के लिए हाई कोर्ट का आदेश…2019 से नहीं हुई बैठकएमडी की स्पेशल अपील हाई कोर्ट ने की खारिज..अवमानना की भी लटकी तलवार