ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::::- डीएसबी परिसर कुमाऊं विश्वविद्यालय में हिंदी एवं अन्य भारतीय भाषा विभाग द्वारा ‘प्रेमचंद जयंती ‘ के अवसर पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान संगोष्ठी का विषय ‘प्रेमचंद की कहानियां : विविध आयाम’ रहा। इस अवसर पर डॉ. दीक्षा मेहरा ने प्रेमचंद की कहानियों का परिचय देते हुए अपने मौलिक विचार साझा किए। शोधार्थी कपिल कुमार ने प्रेमचंद की कहानियों में रंगमंचीयता पर प्रकाश डाला, शोधार्थी हिमांशु विश्वंकर्मा ने प्रेमचंद की प्रासंगिकता को उजागर किया।

वहीं हिन्दी विभागध्यक्ष प्रो. निर्मला ढैला बोरा ने अध्य्क्षीय संबोधन में प्रेमचंद साहित्या के सूक्ष्म् पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंसने हमारे समाज की नब्ज पकड़ी है। अंत में प्रो. चन्द्ररकला रावत द्वारा संगोष्ठी में उपस्थित सभी का धन्य‍वाद ज्ञापन किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. शशि पाण्डे द्वारा किया गया।

इस अवसर पर प्रो. सावित्री कैड़ा जन्तवाल, डॉ. शुभा मटियानी, मेधा नैलवाल, डॉ. मथुरा इमलाल, डॉ. कंचन आर्या, शोधार्थी एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत : राजकीय महाविद्यालय में हुआ नशे की समस्या के समाधान पर इन हाउस डिस्कशन : क्षेत्रीय समस्या का क्षेत्रीय समाधान होना जरूरी