ख़बर शेयर करें -

नैनीताल। फायर सीजन को लेकर वन विभाग ने कमर कसनी शुरू कर दी है। गर्मीं के सीजन में जंगलों को आग से बचाने के लिए कंट्रोल बर्निंग की जा रही है। जिससे किसी भी तरह से होने वाले नुकसान से जंगलों को बचाया जा सके।

मनोरा रेंज के वन क्षेत्राधिकारी मुकुल शर्मा ने बताया कि वन विभाग की ओर से जारी निर्देश के अनुसार जंगलों में लगने वाली आग पर काबू पाने के लिए विभाग की ओर से कई तरह की रोकथाम की जाती है, जिनमें बर्निंग कंट्रोल मुख्य है। बताया कि मनोरा रेंज के जंगल में वन विभाग ने पांच किमी के दायरे में सड़क किनारे कंट्रोल बर्निंग कर जंगल में मौजूद पिरूल और सूखे पत्तों को जलाया। इस दौरान जंगल की सफाई कर पिरूल और आग लगने की संभावना वाले घासफूस को जलाया जा रहा है। बताया कि सूखा मौसम और जंगल की सतह पर जमा ईधन, सूखी मिट्टी के चलते आग फैलने के हालात बना देता है। ऐसे में जंगल में अलाव जलाना या जलती बीड़ी-सिगरेट फेंक देने जैसी लापरवाही घातक होती है। इसके लिए फायर सीजन को देखते हुए लगातार कंट्रोल बर्निंग का कार्यक्रम जारी रहेगा। जंगलों को आग से बचाने के भरसक प्रयत्न किए जाएंगे। बृहस्पतिवार को भी नैनीताल हल्द्वानी रोड में कंट्रोल बर्निग का कार्य किया जा रहा था। इस दौरान वन आरक्षी शिव सिंह, सौरभ धामी व अन्य वन कर्मी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल टाइम्स :: भावना पालीवाल ने यूजीसी नेट की परीक्षा की उत्तीर्ण