Ad
ख़बर शेयर करें -

नैनीताल::::- कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने नैनीताल की बुनियाद कहीं जाने वाले बलियानाला, बाजार समिति पांडे अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान दीपक रावत ने बताया की सिंचाई विभाग के द्वारा बलिया नाले के ट्रीटमेंट के लिए रुपये 202 करोड़ रुपए की डीपीआर बनकर तैयार हो गई है। जिसके आधार पर अब शासन के आदेशों के अनुरूप कार्य किया जाएगा। इस दौरान आयुक्त ने बलियानाला भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण भी किया जहां आयुक्त को कई लोग अभी भी भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र में खतरे की जद में आए घरों में रहते मिले जिस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आयुक्त ने एसडीएम नैनीताल राहुल शाह को तत्काल सभी घर खाली करवाने और घरों को सील करने समेत घरों से विद्युत कनेक्शन काटने के निर्देश दिए हैं ताकि कोई क्षतिग्रस्त घरों में दोबारा ना आ सके।
 वही विस्थापन की बात सुनकर क्षेत्रीय लोगों ने आपत्ति दर्ज की क्षेत्रीय निवासी कमल कुमार का कहना है कि प्रशासन द्वारा उन्हें शहर से बाहर 18 किलोमीटर दूर दुर्गापुर क्षेत्र में विस्थापित करने का फैसला किया है। दुर्गापुर क्षेत्र पहले से ही भूस्खलन की जद में है लिहाजा उन्हें वहा विस्थापन किया जाना गलत है। दुर्गापुर क्षेत्र शहर से दूर होने के चलते उन्हें ड्यूटी आने जाने और बच्चों को स्कूल लाने ले जाने दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। लिहाजा उन्हें दुर्गापुर विस्थापित ना कर शहर के समीप विस्थापित किया जाए।


 शहर के अंदर से सभी कबाड़ की दुकानें होगी बाहर

बीते दिनों उधम सिंह नगर में कबाड़ की दुकान से हुए गैस रिसाव की घटना के बाद आयुक्त ने शहर के अंदर बनी कबाड़ की दुकानों का निरीक्षण किया जहां पर आयुक्त को कई अनियमितता मिली। जिसके बाद आयुक्त ने एसडीएम नैनीताल को कबाड़ की दुकानों को शहर से बाहर करने के निर्देश देते हुए कहा की कबाड़ की दुकानें अवैध रूप से शहर के अंदर स्थापित की गई है। कबाड़ व्यवसाय करने वाले सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से काबिज हैं लिहाजा इन्हें जल्द से जल्द शहर से बाहर किया जाए। इन दुकानों से उधम सिंह नगर में हुई जैसी घटना शहर में दोबारा घट सकती है। लिहाजा शहर के अंदर से कबाड़ की दुकानों को बाहर किया जाए।
इस दौरान आयुक्त ने सार्वजनिक स्थानों पर गंदगी के देखते हुए नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी को जमकर फटकार लगाई गंदगी साफ करवाने के निर्देश दिए ।वहीं सड़कों के किनारे रखी गई निर्माण सामग्री पर भी आयुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित लोगों के खिलाफ चालानी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।
 

Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  हाईकोर्ट ने सोलिडवेस्ट मैनेजमेंट के नियमो का पालन करते हुए 45 दिन के भीतर जिला अधिकारी भीतर निर्णय लेंने के दिए निर्देश
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments