ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी ::- विगत दिनों पंजाब नेशनल बैंक की शाखा प्रबंधक प्रतिभा जोशी द्वारा थाना मुखानी में शिकायत दर्ज कराई गई कि उनकी मुखानी स्थित शाखा से लगे एटीएम से कुछ खाता धारको द्वारा 14 जनवरी एवं 21 जनवरी को कई बार ट्रांजैक्शन के माध्यम से गलत तरीके से कुल 117500 रुपए नगदी का आहरण किया गया है। जिसकी गहनता से जांच की जाए।
जिस संबंध में थाना मुखानी में धोखाधड़ी की धारा 420 आईपीसी के अंतर्गत संदिग्धों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कर विवेचना महिला उप निरीक्षक प्रीति के सुपुर्द की गई।
धोखाधड़ी की घटना के अनावरण हेतु पंकज भट्ट एसएसपी द्वारा रमेश बोहरा थानाध्यक्ष मुखानी को पुलिस टीम का गठन करने हेतु निर्देशित किया गया।
उक्त धोखाधड़ी की विवेचना कर रही महिला उपनिरीक्षक प्रीति के कुशल नेतृत्व में जनपद की एसओजी व पुलिस टीम के साथ घटना से संबंधित तथ्यों की गहनता के साथ जांच की गई तथा ट्रांजैक्शन एटीएम के सभी सीसीटीवी फुटेज का भी अवलोकन किया गया जिसमें नामजद व्यक्तियों द्वारा ट्रांजैक्शन के दौरान संदिग्ध गतिविधियां करते पाए गए।
पुलिस कार्यवाही के दौरान संपूर्ण साक्ष्यों के आधार पर सभी संदिग्ध खाताधारको से गहनता के साथ पूछताछ की गई और अंतत: उक्त घटनाक्रम के मास्टरमाइंड अभियुक्त फरमान पुत्र इरशाद निवासी नगला थाना ताजगंज जिला आगरा उत्तर-प्रदेश को कल आगरा से गिरफ्तार कर अभियुक्त को आज माननीय न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया। घटनाक्रम में संलिप्त उसके अन्य साथियों के विरुद्ध भी कार्यवाही की जा रही है।

अपराध करने का तरीका

अभियुक्त द्वारा बताया गया कि वह अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर एटीएम कार्ड से पैसे निकालने के लिए एटीएम मशीन में जाता है और एटीएम मशीन में पैसे निकालने के लिए प्रोसेस करता है जैसे ही एटीएम मशीन से पैसे बाहर आते हैं तो वह खींच कर उन्हें निकाल लेता है और फिर एटीएम मशीन की पावर ऑफ कर देता है जिससे प्रोसेस मशीन में पूर्ण तरीके से नहीं हो पाती है।
इसके पश्चात अभियुक्त व उसके अन्य साथी संबंधित बैंक में शिकायत दर्ज कराते हैं। कि हमारे खाते से पैसे तो कट गए लेकिन हमें पैसे मिले नहीं और पुनः बैंक से पैसे प्राप्त कर लेते हैं इस प्रकार वह बैंक से धोखाधड़ी करके पैसे प्राप्त कर लेते हैं।

पुलिस टीम में

1. महिला उपनिरीक्षक प्रीति चौकी प्रभारी आरटीओ रोड मुखानी
2. राजवीर सिंह प्रभारी एसओजी नैनीताल
3. आरक्षी त्रिलोक सिंह (एसओजी)
4. आरक्षी रविंद्र खाती थाना मुखानी सम्मिलित रहे।


पंकज भट्ट, एसएसपी नैनीताल द्वारा उपरोक्त नए तरीके के एटीएम ट्रांजेक्शन धोखाधड़ी प्रकरण के सफल अनावरण में शामिल नैनीताल पुलिस टीम को ₹2500 के आधिकारिक पुरस्कार की घोषणा की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल :: चेकिंग के दौरान 100 ग्राम सोना बरामद