ख़बर शेयर करें -

 हिमाचल प्रदेश में बुधवार रात भूकंप के तेज़ झटके महसूस किए गए। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, यहां रात 9:32 बजे भूकंप के झटके महसूस हुए, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.1 मापी गई। इन झटकों से घबराए कई लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए। उनका कहना है कि 10 से 15 सेकेंड तक झटके महसूस होते रहे।

भूकंप पर नजर रखने वाली संस्था नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार, मंडी के रोपड़ू के पास नेरी खड्ड जहां ब्यास नदी में मिलती है, वहीं पर भूकंप का केंद्र था। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 4.1 मापी गई। फिलहाल इस भूकंप से किसी तरह की जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल :: भारी बारिश के चलते 13 जुलाई तक जनपद के सभी स्कूलों में अवकाश घोषित

हिमाचल प्रदेश पहाड़ी इलाका होने के साथ-साथ भूकंप की दृष्टि से बेहद संवेदनशील इलाकों में गिना जाता है। यह सिस्मिक जोन 4 और 5 में आता है, जिसका अर्थ है कि यहां भीषण भूकंप आने का खतरा बना रहता है। यहां वर्ष 1905 में बेहद तेज भूकंप आया था, जिसमें कम से कम 20 हजार लोगों की मौत की आशंका जताई जाती है। उस भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.8 थी, जिसमें पूरा इलाका ही बिल्कुल तहस-नहस हो गया था।

यह भी पढ़ें 👉  जिलाधिकारी ने यूक्रेन रूस युद्ध में फसें भारतीय के परिजनों से की अपील, दिया हेल्पलाइन नंबर