ख़बर शेयर करें -

नैनीताल :- कुमाऊं विश्वविधालय के विजिटिंग प्रोफेसर तथा न्यू यॉर्क के सी 4 वी कंपनी के फाउंडर तथा सीईओ डॉक्टर शैलेश उप्रेती ने ऑनलाइन माध्यम से सिंक्रोनाइजिंग मॉलिक्यूल्स तो मशीन फॉर द बेटरमेंट ऑफ ह्यूमन कायिंद पर व्याख्यान दिया। डॉक्टर शैलेश उप्रेती ने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा की बागेश्वर से हाईस्कूल करने के बाद उन्होंने भक्तोला से इंटर ,एसएसजे परिसर से बीएससी,मैक्स बाद आईआईटी दिल्ली से पीएचडी की और फिर अमेरिका चले गए ।डॉक्टर शैलेश ने कहा की लिथियम बैटरी सोडियम बैटरी से बहुत कारगार है।तथा लिथियम बैटरी कार , स्कूटी में इस्तेमाल हो रही है। जो उसकी कारगरता एवम मानव की सहायता कर रही है। विज्ञान ने मानव का जीवन सरल किया है । डॉक्टर उप्रेती ने कुमाऊं विश्वविधालय को शोध हेतु 8 लाख रुपया प्रदान किया है ।रसायन तथा भौतिकी के दो दो शोधार्थियों को 8000 रुपया तथा आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी विद्यार्थियो तीन को 5000 रुपया प्रदान करेंगे। व्याख्यान के दौरान कुलपति प्रो दीवान रावत ने डॉक्टर उप्रेती का धन्यवाद किया तथा कहा की विद्यार्थी इस व्याख्यान से प्रेरित हुए है ।कार्य क्रम का संचालन प्रो संजय पंत ने किया। व्याख्यान में प्रो सी एस मथेला,प्रो ललित तिवारी , प्रो एलएस लोधियाल,प्रो नीलू lसहित 120प्रतिभागी शामिल रहे।

यह भी पढ़ें 👉  भत्रोंजखान :: विश्व नशा निषेध दिवस पर राजकीय महाविद्यालय में आयोजित हुई राष्ट्रीय ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता