ख़बर शेयर करें -

नैनीताल ::- नगर में आवारा कुतों से काटने की बढ़ते केसों के दृष्टिगत जिलाधिकारी से प्राप्त निर्देशों के क्रम में उपजिलाधिकारी राहुल शाह द्वारा आवारा कुत्तों से बचाव हेतु नगर पालिका सभागार में अधिशासी अधिकारी नगर पालिका नैनीताल , नगर स्वास्थ्य अधिकारी , पशु चिकित्साधिकारी के साथ बैठक की गई । बैठक में नगर पालिका द्वारा अवगत करवाया गया कि नगर में हुए सर्वे के अनुसार 713 आवारा कुत्तें हैं, जिनमें से 468 का एंटी रेबीज का टीकाकरण किया जा चुका है , 576 का स्ट्रेलाइजेशन किया जा चुका । पालिका द्वारा कुत्तों के टीकाकरण एवं स्ट्रेलाइजेशन हेतु निजी फर्म से अनुबंध किया जा चुका है । उपजिलाधिकारी द्वारा नगर पालिका तो तत्काल फर्म के माध्यम से डॉग कैचिंग स्क्वॉड को तैनात करने और ऐसे कुत्तों को जो आक्रामक हो गया हैं को पशु जन्म नियंत्रण केंद्र (Animal Birth Control Centre) में इलाज हेतु आइसोलेट करने के निर्देश दिए गए हैं ।
आगामी दिनों में पालिका और पशुचिकित्सा विभाग की संयुक्त टीम द्वारा ऐसे कुत्तों का चिन्हीकरण किया जाएगा । नगर पालिका क्षेत्र में डॉग पाउंड हेतु भूमि चिंहित किए जाने हेतु भी पालिका , राजस्व और पशु चिकित्सा विभाग की टीम गठित की गई है । नगर पालिका को Animal Birth centre Monitoring committee गठित कर पशु कल्याण संबधित संस्थाओं को भी सदस्य के रूप में आमंत्रित किए जाने हेतु निर्देशित किया गया है । अधिशासी अधिकारी आलोक उनियाल द्वारा अवगत करवाया गया की 2 दिन के भीतर टीम का काम शुरू हो जाएगा । नगर पालिका द्वारा जनसामान्य हेतु आवारा कुतों से बचाव हेतु दिशा निर्देश के फ्लेक्स विभिन्न स्थानों पर लगाए गए हैं । उपजिलाधिकारी द्वारा उन्हें अधिक अधिक प्रचारित और प्रसारित किए जाने हेतु निर्देशित किया गया है ।

यह भी पढ़ें 👉  नेताओं की बढ़ने लगी चिंता…प्रशासन ने शुरू की तैयारी..होली से पहले किसकी दीपावली