ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा /रानीखेत :::- राजकीय महाविद्यालय भत्रोजखान एवम राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज,चौनलिया के संयुक्त तत्वावधान में को छात्र छात्राओं हेतु NAPs कार्यशाला का आयोजन माननीय प्राचार्य प्रो सीमा श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एवं नोडल अधिकारी डॉ केतकी तारा कुमैय्या के संयोजन में किया गया जिसमे मुख्य अतिथि एवम मुख्य वक्ता चौनालिया पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्रधानाचार्य जगदीश चंद्र पांडे रहे।
कार्यक्रम का शुभारभ करते हुए नोडल अधिकारी, कौशल विकास प्रकोष्ठ डॉ केतकी तारा कुमैय्या ने कार्यशाला की भूमिका एवम विषय ” शिक्षित से प्रशिक्षित युवा की ओर…. आत्मनिर्भर भारत का आगाज ” पर प्रकाश डाला । तत्पश्चात मुख्य अतिथि जगदीश चंद्र पांडे ने युवाओं को स्किल विकसित करने पर जोर दिया और हर कार्य की गरिमा पर बल दिया । उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षुता संवर्धन कार्यक्रम पर बल देते हुए कहा की आज भारत को केवल मात्र डिग्रीधारकों से अधिक आवश्यकता सकारात्मक उत्पादक शक्ति वाली प्रशिक्षित युवा शक्ति की आवश्यकता है इसलिए प्रत्येक युवा को कौशल विकास से जुड़े कोर्सों / ट्रेड्स में अवश्य रूप से जुड़ना चाहिए जैसे हेल्थ, ब्यूटीशियन,उद्योग, पर्यटक गाइड,कंप्यूटर प्रशिक्षण।
अंत में राजकीय महाविद्यालय भत्रोजखान प्राचार्य प्रो सीमा श्रीवास्तव ने अपने संबोधन में सभी विद्यार्थियों से आह्वान किया की परंपरागत शिक्षा पद्धति मात्र किताबी कोरे ज्ञान पर आधारित है बल्कि इससे अधिक आवश्यक है पेशेवर ज्ञान और NAPs के माध्यम से क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा जिसमे न केवल युवा रोजगार प्राप्त कर पाएगा बल्कि भविष्य में रोजगार देने में भी सक्षम होगा।
कार्यशाला के दौरान उपस्थित लगभग 40 विद्यार्थियों में से 26 विद्यार्थियों का पंजीकरण ऑन द स्पॉट NAPs की आधिकारिक वेबसाइट www.apprenticeship.gov.in पर किया गया।
कार्यक्रम के सफल सम्पादन में डॉ रूपा, डॉ पूनम , डॉ रविन्द्र कुमार, एवम कार्यालय स्टाफ भूपेंद्र नेगी, अरूण, गिरीश, रोहित की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

यह भी पढ़ें 👉  सहकारी बैंकों में भर्ती घोटाले पर HC ने प्रदेश भर के सहकारी बैंकों के सचिवों से मांगा जवाब
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments